झाँसी : उत्तर मध्य रेलवे ने ट्रेन संचालन में संरक्षा और यात्रियों की सुरक्षा में सुधार के लिए उठाए ठोस कदम

कोविड -19 संबंधित प्रतिबंधों के बावजूद वर्तमान वित्त वर्ष 2020-21 में संरक्षा और सुरक्षा सम्बंधित कई महत्वपूर्ण कार्यों को किया पूरा..

झाँसी : उत्तर मध्य रेलवे ने ट्रेन संचालन में संरक्षा और यात्रियों की सुरक्षा में सुधार के लिए उठाए ठोस कदम
Jhansi Railway Station

कोरोना वायरस, महामारी के कारण देश एक विषम और चुनौतीपूर्ण समय से गुजर रहा है; हालांकि, रेलवे जो सभी प्रतिकूल परिस्थितियों के दौरान भी बेहतर प्रदर्शन करने के लिए जानी जाती है, ने वर्तमान समय के अनुसार खुद को परिवर्तित किया है और पूरे देश में आवश्यक माल और आवश्यक यात्रा वाले यात्रियों का परिवहन सुनिश्चित करने के लिए अथक प्रयास कर रही है।

जुलाई 2020 में यात्री गाड़ियों की 97% समयापालनता और मालगाड़ियों की 47 किमी प्रति घंटे की औसत गति के साथ सर्वोत्तम परिचालन सूचकांक बनाए रखने के अतिरिक्त, उत्तर मध्य रेलवे ने कोविड -19 से संबंधित प्रतिबंधों के बावजूद संरक्षा एवं रेलयात्रियों की सुरक्षा संबंधी कार्यों को पूरा करने में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है।

यह भी पढ़ें : 'सपा काल के कार्यों का फीता काट रहे मुख्यमंत्री' : अखिलेश यादव

संरक्षा ही प्राथमिकता के लक्ष्य के साथ उत्तर मध्य रेलवे ने वित्तीय वर्ष 2020-21 के दौरान सड़क उपयोगकर्ताओं की संरक्षा संबंधी कई महत्वपूर्ण कार्य पूरे किए हैं| इनमें 12 लेवल क्रॉसिंग गेटों को बंद करना, एक-एक आरओबी और आरयूबी का निर्माण कार्य पूरा करना, ट्रेनों के सिग्नलिंग सिस्टम के साथ दो लेवल क्रॉसिंग गेटों की इंटरलॉकिंग, बूम टूटने की अधिक घटना वाले 19 गेटों पर स्लाईडिंग बूम का प्रावधान, 10 लेवल क्रॉसिंग गेटों पर इलेक्ट्रिक लिफ्टिंग बैरियर का प्रावधान आदि सम्मिलित हैं।

सीटीसी और टूंडला कंट्रोल रूम में स्थापित महत्वपूर्ण उपकरणों की आग से सुरक्षा के लिए इंटेलिजेंट फायर डिटेक्शन और अलार्म सिस्टम का प्रावधान किया गया है। चालू वित्त वर्ष के दौरान नियमित समीक्षा और निरीक्षण के अतिरिक्त उत्तर मध्य रेलवे के संरक्षा विभाग ने परिचालन और रखरखाव से संबंधित महत्वपूर्ण बिंदुओं पर 07 संरक्षा अभियान चलाने के साथ-साथ असुरक्षित तरीक़े से ट्रैक पार करने को रोकने  के लिये और अंतर्राष्ट्रीय लेवल क्रासिंग जागरूकता दिवस (ILCAD) के अवसर पर लेवल क्रासिंगों को पार करते समय ली जाने वाली सावधानियों पर 02 जन जागरूकता अभियान भी चलाए गये हैं।

यह भी पढ़ें : कुरान की शिक्षा लेने वाली मासूम बच्ची को मौलाना ने जब...

 उत्तर मध्य रेलवे पर यात्रियों की सुरक्षा के क्षेत्र में, वर्ष  2020 के दौरान, रेलवे सुरक्षा बल ने 9981 अनधिकृत टिकट एजेंटों और अलार्म चेन पुलिंग में लिप्त लगभग 1500 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की। उत्तर मध्य रेलवे परिक्षेत्र  में सुरक्षा हेल्प लाइन नंबर 182 पर प्राप्त लगभग 782 कालों को एटेंड किया गया और यात्रियों की सुरक्षा सम्बंधी परेशानियों का निराकरण किया गया।

उत्तर मध्य रेलवे के रेल सुरक्षा बल और अन्य रेलवे कर्मचारियों  ने 300 से अधिक खोए हुए बच्चों को बचाया और उन्हें उनके परिवारों के साथ मिलवाया या ऐसे बच्चों को अग्रिम सहायता हेतु एनजीओ या स्थानीय पुलिस को सौंप दिया। रेल सुरक्षा बल द्वारा नशे और प्रतिबंधित सामग्रियों के वाहक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुये तस्करी में शामिल 13 लोगों को गिरफ्तार किया गया और 11,80,680 / - रुपये की अवैध सामग्री बरामद की गई तथा संबंधित राज्य पुलिस को सौंपी गई है।

यह भी पढ़ें : क्यों ले रहें हैं अपने ही परिवार के लोगों की जान