स्कूलों में बनाये पब्लिक टाॅयलेट तो खैर नहीं : बेसिक शिक्षा मंत्री

यूपी के बेसिक शिक्षा मंत्री डाॅ. सतीश द्विवेदी ने ग्राम पंचायतों द्वारा बनाए जा रहे पब्लिक टाॅयलेट को प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों के परिसरों में न बनवाये जाने का निर्देश दिया है। आज इस संबंध में उन्होंने प्रदेश के सभी डीएम, डीपीआरओ और बीएसए को एक स्पष्ट निर्देश भी जारी किया...

स्कूलों में बनाये पब्लिक टाॅयलेट तो खैर नहीं : बेसिक शिक्षा मंत्री
स्कूलों में बनाये पब्लिक टाॅयलेट तो खैर नहीं : बेसिक शिक्षा मंत्री

लखनऊ

डाॅ. द्विवेदी ने बताया कि प्रदेश के कई ग्राम पंचायतों से ये शिकायत प्राप्त हो रही है कि ग्राम पंचायतों द्वारा स्कूलों के परिसर में पब्लिक टाॅयलेट बनाये जा रहे हैं। ग्रामीणों, विद्यार्थियों और शिक्षकों के माध्यम से ये शिकायतें प्राप्त हुई हैं। इसीलिए ये दिशा निर्देश दिये जा रहे हैें।

यह भी पढ़ें : प्रणब मुखर्जी की हालत में कोई सुधार नहीं, सोशल मीडिया पर निधन की अफवाह

बेसिक शिक्षा मंत्री ने बताया कि पंचायती राज विभाग द्वारा प्रदेश के सभी ग्राम पंचायतों में इस समय पब्लिक टाॅयलेट यानि सार्वजनिक शौचालय बनवाये जा रहे हैं। ऐसे में अधिकतर ग्राम प्रधान इसे स्कूलों के परिसरों में बनवाने की योजना बना रहे हैं, जोकि गलत है।

यह भी पढ़ें : मुसलाधार बारिश के बीच प्रकट हुए भगवान, ब्रज में घर-घर जन्में कान्हा

उन्होंने कहा कि स्कूल के परिसर केवल विद्यार्थियों एवं शिक्षकों के उपयोग के लिए है। पूरे गांव के प्रयोग के लिए यदि टाॅयलेट स्कूल परिसर में बनाया जायेगा तो उससे न केवल शिक्षकों अपितु विद्यार्थियों को भी असुविधा होगी। इसके अलावा स्कूल बंद होने के बाद गांव के लोग भी इस पब्लिक टाॅयलेट का उपयोग नहीं कर पाएंगे। ऐसे में विद्यालयों के परिसर में इसे बनवाया जाना बिल्कुल भी ठीक नहीं है।

यह भी पढ़ें : केन्द्र ने राज्यों को दिए 1.28 करोड़ पीपीई और तीन करोड़ मास्क

बेसिक शिक्षा मंत्री ने इस संबंध में कड़े निर्देश जारी करते हुए चेतावनी भरे लहजे में यह भी कहा है कि जिन ग्राम पंचायतों के प्रधानों द्वारा ऐसा किया जाएगा, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

(हिन्दुस्थान समाचार)