चित्रकूट मंडल के कमिश्नर ने विद्युत आपूर्ति में सभासद व प्रधान को दिए टिप्स

शासन द्वारा 20 घंटे लगातार विद्युत आपूर्ति के निर्देश दिए गए हैं.इसके बावजूद ग्रामीण व शहरी इलाकों में विद्युत आपूर्ति बाधित रहने की शिकायत की जाती जाती है। इस संबंध में कमिश्नर ने चित्रकूट मंडल के सभी जिला अधिकारियों को भेजे गए पत्र में कहा है कि विद्युत आपूर्ति पर सतर्क दृष्टि बनाए रखने के लिए ग्राम प्रधान व शहरी इलाकों में सभासदों को जिम्मेदारी सौंपी जाए...

चित्रकूट मंडल के कमिश्नर ने विद्युत आपूर्ति में सभासद व प्रधान को दिए टिप्स

उन्होंने इस संबंध में बकायदा एक चार्ट भी जारी किया है।जिसके माध्यम से ग्राम प्रधान और सभासद प्रतिदिन विद्युत आपूर्ति की स्थिति को रजिस्टर में अंकित कर सकते हैं जो 24 घंटे का होगा। प्रतिदिन प्रातः 8 बजे से दूसरे दिन प्रात 8 बजे तक विद्युत आपूर्ति की स्थिति का अंकन उक्त रजिस्टर में करने को कहा गया है।

यह भी पढ़ें : आखिर क्यों बांदा दुरेड़ी के पास ग्रामीणों ने घंटों रोकी ट्रेन ?

उन्होंने भेजे गए पत्र में कहा है कि ग्रामीण क्षेत्र में समस्त प्रधानों एवं नगरी क्षेत्र में समस्त सभासदों से प्रतिदिन विद्युत आपूर्ति की सूचनाओं का संग्रहण लेखपाल या ग्राम पंचायत अधिकारी या अन्य माध्यम से प्रतिदिन एसएमएस के द्वारा प्राप्त की जाए तथा प्रतिदिन की विद्युत आपूर्ति की समीक्षा करते हुए यदि कहीं कोई विपरीत परिस्थिति या कठिनाई संज्ञान में आती है तो उसका निराकरण तत्काल कराया जाए।

यह भी पढ़ें : बांदा में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 400 पार

इस कार्य के लिए जनपद स्तर पर एक नोडल अधिकारी जो विद्युत विभाग से भिन्न हो, को नामित करते हुए उसके नाम, पद नाम और मोबाइल नंबर भी अवगत कराया जाए।उन्होंने कहा कि शासन द्वारा 20 घंटे विद्युत आपूर्ति के निर्देश देने के बावजूद बार-बार विद्युत आपूर्ति में बाधा होने की शिकायत आ रही है जिससे शासन की छवि धूमिल होती है। उपरोक्त व्यवस्था बनाए जाने से विद्युत आपूर्ति में आ रही बाधा के बारे में आसानी से पता लग जाएगा।