ये मन्दिर तो बनना शुरू हुआ है पर ये वाला राम मन्दिर तो पूरा होने की ओर है

प्रभु श्रीराम की जन्मस्थली अयोध्याधाम पर उनके भव्य मंदिर का प्रतीकात्मक शुभारंभ किया गया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हिन्दुओं के आराध्य जिस राम मन्दिर की शिला का पूजन आज किया है, उसकी प्रतीक्षा तो 500 सालों से हिन्दू जनमानस को थी। पर आज......

ये मन्दिर तो बनना शुरू हुआ है पर ये वाला राम मन्दिर तो पूरा होने की ओर है

आज 5 अगस्त को प्रभु श्रीराम की जन्मस्थली अयोध्याधाम पर उनके भव्य मंदिर का प्रतीकात्मक शुभारंभ किया गया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हिन्दुओं के आराध्य जिस राम मन्दिर की शिला का पूजन आज किया है, उसकी प्रतीक्षा तो 500 सालों से हिन्दू जनमानस को थी। पर आज हम जिस राम मन्दिर की बात कर रहे हैं वो बाँदा शहर का राम मन्दिर है, जो लगभग पूर्णता की ओर है।

मन्दिर के प्रबन्धक  प्रद्युम्न दुबे लालू कहते हैं,

"हम सभी भारतवासी अपने आप को प्रभु श्री राम के चरणों पर धन्यवाद प्रेषित करते हैं कि उन्होंने हमें ऐसी प्रेरणा दी कि एकजुट होकर इस कार्य को पूरा करने का संकल्प पूरा हो सका और साथ ही मैं उन सभी लोगों को प्रणाम अर्पित करता हूं जिन्होंने कदाचित किसी भी तरह से इस मंदिर निर्माण में अपना सहयोग किया। इसी परिपेक्ष्य में हमारे बांदा शहर में कटरा मोहल्ले के अन्दर माँ सिंहवाहिनी परिसर के अंदर भव्य श्रीराम मंदिर का निर्माण किया जा रहा है जो अपनी पूर्णता की ओर अग्रसर हो चुका है। मंदिर में स्थापित की जाने वाली मूर्तियां तथा अन्य सभी कार्य पूर्ण हो चुके हैं, परंतु कदाचित धर्म की रीतियों के अनुसार उपयुक्त तिथि ना होने के कारण स्थापना नहीं की जा पा रही है। शीघ्र ही यह कार्य आप सब लोगों के सहयोग से पूर्ण होगा। आज हम सभी लोग अपने आपको गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं कि एक तरफ भगवान श्रीराम की जन्मस्थली में मंदिर के निर्माण का कार्य शुरू हुआ और दूसरी ओर हम सभी लोगों के बीच में एक विशाल भगवान राम का मंदिर पूर्ण होकर शीघ्र ही दर्शन लाभ के लिए जनता जनार्दन को उपलब्ध रहेगा।"

इस मन्दिर के संयोजक  अशोक त्रिपाठी जीतू बताते हैं,

"इस मंदिर का शिलान्यास 2017 में किया गया था। तब से लगातार अनवरत 3 वर्ष से अधिक समय से कार्य इसमें चल रहा है। लगभग 50 लाख रुपए की लागत से तैयार हुआ यह मंदिर श्री रामदरबार के भगवान गणेश जी एवं मां सरस्वती की प्रतिमा की स्थापना के साथ अपनी भव्यता को प्राप्त करने को अग्रसर है। इस मंदिर में शहर के तमाम उन सभी लोगों का सहयोग प्राप्त है जो प्रभु राम के और हिंदू धर्म के अनुयाई हैं। हम पूरी कमेटी के सभी लोग इन सभी लोगों के सदैव कृतज्ञ रहेंगे, जिन्होंने हमें मुक्त हाथों से सहयोग दिया।"

प्रद्युम्न दुबे लालू कहते हैं,

"आज कदाचित यह कहने में बिल्कुल भी संकोच नहीं हो रहा कि इतना बड़ा सहयोग बांदा शहर के लोगों से हमें मिला, यह अद्भुत है। इससे यह सिद्ध होता है कि आप धर्म की रेखा पर चल दीजिए तो आपको बहुत लोग उस रास्ते पर खड़े मिलेंगे जो आपकी प्रतीक्षा कर रहे होंगे।"

इसमें प्रमुख रूप से सहयोग सुरेंद्र निगम, अवध नारायण तिवारी, क्षेत्रीय सभासद नीरज त्रिपाठी एवं भाजयुमो के जिला उपाध्यक्ष निखिल सक्सेना का रहा।