पीएम के बाद सबसे ज्यादा राज्यपाल देने वाला स्टेट बना यूपी

देश को 6 से अधिक प्रधानमंत्री देने वाला उत्तर प्रदेश अब सबसे ज्यादा राज्यपाल बनाने वाला राज्य भी बन गया है...

पीएम के बाद सबसे ज्यादा राज्यपाल देने वाला स्टेट बना यूपी
पीएम के बाद सबसे ज्यादा राज्यपाल देने वाला स्टेट बना यूपी

भाजपा के कई वरिष्ठ नेता जो अभी तक राजनीति में सुर्खियों में रहे हैं उनकी सेवाओं को देखते हुए पार्टी ने उन्हें अलग-अलग राज्यों में राज्यपाल बनाकर अहम जिम्मेदारी सौंपी है।अभी तक कल्याण सिंह, लालजी टंडन, फागू चौहान, सतपाल मलिक, कलराज मिश्रा व बेबी रानी मौर्य राज्यपाल की भूमिका में रहे हैं अब पूर्वांचल के मनोज सिन्हा को जम्मू कश्मीर का उपराज्यपाल मनोनीत किया गया है।

कल्याण सिंह उत्तर प्रदेश के 2 बार मुख्यमंत्री रह चुके हैं। मौजूदा समय में राजस्थान के राज्यपाल है। वह 1991 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने, बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद उन्होंने नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए 6 दिसंबर में 1992 को मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र दे दिया था। उन्हें 4 सितंबर 2014 को राजस्थान का राज्यपाल बनाया गया था।

यह भी पढ़ें : योगी सरकार ने कोरोना मरीजों के लिए आइवरमेक्टिन टेबलेट को दी मंजूरी

इसी तरह लालजी टंडन उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकारों में मंत्री पद पर रहे हैं, उन्होंने 1960 से राजनीति की शुरुआत की वह दो बार विधान परिषद के सदस्य रहे 30 सितंबर 2017 को बिहार के राज्यपाल बने, फिर उन्हें मध्य प्रदेश का राज्यपाल बनाया गया। पिछले महिने उनका निधन हो गया। फागू चौहान जनपद घोसी विधानसभा से लगातार छह बार विधायक और उत्तर प्रदेश राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के चेयरमैन रहे, फागू चौहान को बिहार का राज्यपाल बनाया गया। वह लंबे समय से भाजपा से जुड़े हैं और उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं।

सतपाल मलिक उत्तर प्रदेश के जाट समुदाय से आने वाले नेता है। उन्हें बिहार का राज्यपाल बनाया गया, बाद में जम्मू कश्मीर की भी जिम्मेदारी सौंपी गई थी। लेकिन अब वहां मनोज सिन्हा को जिम्मेदारी सौंपी गई।

यह भी पढ़ें : एमएसएमई उद्यमियों के जीवन में नई खुशहाली लाने का किया जा रहा काम : योगी आदित्यनाथ

इसी तरह उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य उत्तर प्रदेश के आगरा की रहने वाली है। वर्ष 1995 से 2000 के बीच आगरा की मेयर रह चुकी है। गैर राजनीतिक परिवार से आने वाली बेबी रानी मौर्य के ससुर एक आईपीएस अधिकारी है, जबकि उनके पति पंजाब नेशनल बैंक में उच्च पद पर रह चुके हैं।

कलराज मिश्रा को हिमाचल प्रदेश का गवर्नर बनाया गया। इसके पहले मोदी सरकार की पहली पारी में उन्हें सूचना लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार सौंपा गया था। वह उत्तर प्रदेश के देवरिया लोकसभा सीट से चुनाव जीते थे, हालांकि बाद में कलराज मिश्र से मंत्री पद ले लिया गया था और इस बार उन्हें टिकट नहीं दिया गया था। जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल बनाए गए, मनोज सिन्हा पूर्वांचल से आते हैं उन्हें उत्तर प्रदेश चुनाव के बाद मुख्यमंत्री पद का प्रबल दावेदार माना जा रहा था, अब उन्हें नई जिम्मेदारी दी गई।