आग में जल रही बहु ने क्यों ली सास ननद की जान ?

आग में जल रही बहु ने क्यों ली सास ननद की जान ?

बाँदा,

संदिग्ध अवस्था में घर में लगी आग से सास बहू और ननद पूरी तरह झुलस गई ,जिनकी बाद में मौत हो गई।आग में पूरा मकान और गृहस्थी का सामान भी जल गया। घटनास्थल का पुलिस अधीक्षक ने जायजा लिया है। घटना में सच्चाई क्या है सकी जांच की जा रही है।

घटना बबेरू थाना अंतर्गत ग्राम परास में बीती रात हुई। घर में लगी अचानक आग में मुन्नी देवी(65) पत्नी लाला गुप्ता, रेखा (35 )पति राजेश कुमार व आरती (40 )पत्नी संजय गुप्ता बुरी तरह झुलस गई और आग में मकान समेत गृहस्थी का सामान जलकर खाक हो गया।

यह भी पढ़ें : दो माह बाद अब इन शर्तों के साथ खुलेगी बांदा की दुकानें, जिलाधिकारी का आया आदेश

आग लगने की कुछ ही देर बाद मुन्नी देवी की मौके पर मौत हो गई, जबकि रेखा व आरती को इलाज के लिए बांदा भेजा गया जहां से डॉक्टरों ने हालत नाजुक होने पर कानपुर रेफर कर दिया, रास्ते में दो महिलाओं की मौत हो गई। परिवारी जनों का कहना है कि चूल्हे की चिंगारी से  रहायसी मकान में आग लग गई। जिसमें गृहस्थी का सामान जल गया और सास बहू एवं ननंद भी जल गई ।

घटना के बाद पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ शंकर मीणा ने मौके का मुआयना किया। इस बीच यह भी खबर मिली है कि घटना सास बहू में विवाद के बाद हुई, जिससे सास मुन्नी देवी ने अपनी बेटी आरती के साथ मिलकर बहू को आग लगा दी।जलती हुई बहू ने सास को पकड़ लिया और अपनी मां को बचाने के लिए आरती खींचतान करने लगी जिससे तीनों महिलाएं जलने लगी और इस आग में घर भी धू-धू कर जलने लगा। जब तक गांव वालों ने आग बुझाई तब तक तीनों महिलाएं बुरी तरह झुलस गई थी। मुन्नी देवी ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। इस बारे में क्षेत्राधिकारी बबेरू राजीव प्रताप सिंह ने बताया कि फिलहाल अभी जांच चल रही है।घटना में क्या सच्चाई है यह परिवारी जन ही बता सकते  हैं लेकिन एक साथ तीन मौतों से पूरा परिवार गम में डूबा हुआ है, इसलिए घटना की सच्चाई बाद में ही पता लग पाएगी।