84 कोसी परिक्रमा मार्ग बनेगा फोरलेन, पांच जिलों के लिए विकास की अहम कड़ी होगा साबित

पूर्वांचल के पांच जनपदों को आध्यामिक व आर्थिक रूप से समृद्ध करने वाला 84 कोसी परिक्रमा पथ में सांसद लल्लू सिंह के लगातार किये जा रहे प्रयासों..

84 कोसी परिक्रमा मार्ग बनेगा फोरलेन, पांच जिलों के लिए विकास की अहम कड़ी होगा साबित
84 कोसी परिक्रमा मार्ग बनेगा फोरलेन..

अयोध्या,

पूर्वांचल के पांच जनपदों को आध्यामिक व आर्थिक रूप से समृद्ध करने वाला 84 कोसी परिक्रमा पथ में सांसद लल्लू सिंह के लगातार किये जा रहे प्रयासों की बदौलत एक और उपलब्धि समाहित हो गयी है। 84 कोसी परिक्रमा मार्ग एनएच 227 बी अब फोरलेन होगा।

अयोध्या

परिक्रमा पथ निर्माण को लेकर नई दिल्ली में सड़क परिवाहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गड़करी की अध्यक्षता में विभाग के राज्यमंत्री वीके सिंह, प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, सांसद लल्लू सिंह की बैठक हुई थी, जिसमें परिक्रमा पथ को लेकर कई महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये थे।

यह भी पढ़ें - टोक्यो ओलंपिक में भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने चौथा पदक देश के नाम किया

उक्त जानकारी देते हुए सांसद लल्लू सिंह ने बुधवार को बताया कि अयोध्या की सांस्कृतिक सीमा 84 कोसी परिक्रमा पथ पांच जिलों के लिए विकास की अहम कड़ी साबित होगा। इस पथ में मौजूद 151 धार्मिक, पौराणिक केन्द्र वैश्विक स्तर पर आध्यात्म की रश्मि को प्रसारित करेंगे।

84 कोसी परिक्रमा मार्ग बनेगा फोरलेन..

इससे पयर्टन को बढ़ावा मिलेगा तथा रोजगार के नये अवसर मिलेंगे। पयर्टन के बढ़ने से इन जिलों में निवेश के सम्भावनाओं को सम्बल मिलेगा। उन्होने बताया कि संतों व श्रद्धालुओं की अपेक्षा थी कि 84 कोसी परिक्रमा पथ फोर लेन का हो। उनकी मंशा अब पूरी होगी। इसको लेकर भी निर्णय ले लिया गया है।

यह भी पढ़ें - उप्र : चार जिलों में पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली लागू होने पर अपराधों में आई कमी

हि.स

What's Your Reaction?

like
3
dislike
0
love
1
funny
0
angry
0
sad
0
wow
1