हमीरपुर : मेघनाथ के साथ दहन हुआ लंका नरेश रावण का पुतला 

कोरोना संक्रमण काल में पहली बार रविवार को देर शाम यहां पुलिस परेड ग्राउंड में दशहरे के रावण और मेघनाथ के पुतले का सन्नाटे में दहन किया गया...

हमीरपुर : मेघनाथ के साथ दहन हुआ लंका नरेश रावण का पुतला 

  • कोरोना संक्रमण काल में पुतले दहन के दौरान परेड ग्राउंड में पसरा रहा सन्नाटा

कोरोना संक्रमण काल में पहली बार रविवार को देर शाम यहां पुलिस परेड ग्राउंड में दशहरे के रावण और मेघनाथ के पुतले का सन्नाटे में दहन किया गया। रावण के पुतले का दहन परेड के बाहर सड़क पर लोग देखते रहे। पुतले में जमकर आतिशबाजी के पटाखे फूटे।

यह भी पढ़ें - बांदा में 5 दिन होता है रावण वध, इस बार मिला जीवनदान !?

कोरोना महामारी के कारण इस बार दशहरे का मेला आयोजित नहीं किया गया। पूरा परेड ग्राउंड में सन्नाटा पसरा रहा। शाम को नगर पालिका परिषद के चेयरमैन कुलदीप निषाद ने रावण और मेघनाथ के पुतले परेड ग्राउंड भिजवाया, जहां कुछ मजदूरों की मदद से दोनों के पुतले खड़े किये गये। पुतलों में बम और तमाम तरह के आतिशबाजी के पटाखे भरे गये हैं।

यह भी पढ़ें - बांदा के देवी मंदिरों में नहीं रही कोरोना की परवाह, उमड़ा आस्था का सैलाब

एसडीएम सदर और आरआई ने मौके पर पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। एक वाहन में राम लक्ष्मण को परेड ग्राउंड लाया गया, जहां रस्म अदायगी के बाद रावण और मेघनाथ के पुतलों को आग के हवाले कर दिया गया। पुतला दहन होते ही परेड ग्राउंड के बाहर खड़े लोगों ने जय श्रीराम के नारे लगाये। चौरादेवी मंदिर से दर्शन कर लौट रही तमाम महिलाओं ने परेड में रावण के पुतले का दहन बाहर से खड़ी होकर देखती रही। वहीं दुकानदार कोरोना की भेंट चढ़े दशहरा मेला को लेकर मायूस दिखे। 

यह भी पढ़ें - बाँदा : 43 साल पूर्व कोई नहीं जानता था मरही माता का दरबार

हिन्दुस्थान समाचार

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
1
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0