सट्टेबाजों के कारण छात्र ने गंवाई अपनी जान

बुंदेलखंड के जनपद बांदा में आजकल सट्टेबाजों का बोलबाला है जो नौनिहालों को अपने चंगुल में फंसा कर सट्टा खेलने के लिए मजबूर करते हैं सट्टे में रकम गंवाने आने वाले किशोर बाद में आत्महत्या को मजबूर हो जाते हैं।

सट्टेबाजों के कारण छात्र ने गंवाई अपनी जान


बुंदेलखंड के जनपद बांदा में आजकल सट्टेबाजों का बोलबाला है ,जो नौनिहालों को अपने चंगुल में फंसा कर सट्टा खेलने के लिए मजबूर करते हैं।सट्टे में रकम गंवाने आने वाले किशोर बाद में आत्महत्या को मजबूर हो जाते हैं। ऐसे ही एक मामले में हाई स्कूल के छात्र ने सट्टेबाजों से प्रताड़ित होकर आत्महत्या कर ली ,लेकिन मरने से पहले सुसाइड नोट में सट्टेबाजों को बेनकाब कर दिया। 
मामला शहर कोतवाली अंतर्गत मोहल्ले का है।इसी मोहल्ले में रहने वाली श्रीमती कृष्णा अपनी बहन पूनम की मृत्यु के बाद उसके अनाथ हुए बच्चे अनमोल व  श्रद्धा को गोद लेकर पिछले 10 वर्षों से पालन पोषण कर रही  है ।इनमें अनमोल गुरु राम राय चिल्ला रोड में हाई स्कूल का छात्र था। इस बीच अनमोल से शहर के कुछ युवकों ने दोस्ती करने के बाद मोदी लाज में बुलाना शुरू किया और धीरे-धीरे उसे  सट्टा खेलने के लिए मजबूर करने लगे। धीरे धीरे उनकी धमकी और दबाव के कारण वह अपने घर से करीब तीन लाख के जेवरात भी सट्टेबाजों को सौंप आया।

इसके बाद भी वह रुपया और जेवर लाने के लिए उस पर दबाव बनाते रहे। ऐसा न करने पर जान से मारने की धमकी भी दे डाली, जिससे भयभीत होकर उसने कोचिंग जाना छोड़ दिया।जब इस बात की जानकारी अनमोल की मां कृष्णा गुप्ता को हुई तो उसने कड़ाई से पूछताछ की।इस पर उसने शिवम धुरिया, करण मोदी शिवांशु खरे इत्यादि लड़कों के नाम बताएं और कहा कि यही लोग उसे सट्टा खेलने के लिए मजबूर करते हैं और अब उन्होंने कहा है कि यदि दो लाख  रुपये न दिया तो मार कर तुम्हारी लाश गायब कर देंगे।
 श्रीमती कृष्णा का कहना है कि इन युवकों ने 15 मार्च 2020 को बन्योटा में ही घेरकर पकड़ लिया था और कहा था कि दो लाख रुपए लाकर दो। तब तक मैं भी वहां पहुंच गई और शोर मचाया तो वह जान से मारने की धमकी देते हुए भाग गए।इस घटना की जानकारी पुलिस को दी गई थी पुलिस के हस्तक्षेप के कारण ही मेरे बच्चे की जान बच सकी। इधर 13 सितंबर को वही हमलावर उसे घर से लिवा ले और उसके साथ जमकर मारपीट की।

मार खाने के बाद भी अनमोल ने घटना की जानकारी अपनी मां कृष्णा को नहीं दी लेकिन अगले दिन जब वह नहा रहा था तो शरीर में चोट के निशान देखकर कृष्णा ने चोट के बारे में पूछा तो उसने उन लड़कों के नाम बताएं जो उसे लगातार प्रताड़ित कर रहे थे।सट्टेबाजों की प्रताड़ना के कारण ही अनमोल ने 16 सितंबर को प्रातः 9 दुपट्टे को सीलिंग फैन में बांधकर आत्महत्या कर ली।
मां ने प्रताड़ना से आत्महत्या की थी 
कृष्णा गुप्ता पत्नी भारत लाल गुप्ता बताती है कि बहन पूनम अपने पति जगदीश प्रसाद गुप्ता पुत्र मैकू लाल निवासी मुक्तिधाम मार्ग क्योटरा शहर बांदा की प्रताड़ना की वजह से आत्महत्या कर चुकी है जिसका मुकदमा न्यायालय में विचाराधीन है।वह इनके ही नाबालिग पुत्र अनमोल व पुत्री श्रद्धा की परवरिश  विगत 10 वर्षों से कर रही हूं इसी रंजिश वह मेरे व मेरे पति के खिलाफ झूठी शिकायतें कर रहा है।पुलिस को इस मामले में जांच करके दोषी व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए और सट्टा खिलाकर किशोरों को बर्बाद करने वाले गिरोह का पता लगा कर उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए ताकि अनमोल जैसे किशोरों को असमय अपनी जान गंवानी न पड़े।

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
1
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0