रिश्वत मांगने वाले कर्मचारियों के खिलाफ एफआईआर कराने को कौन मंत्रीजी कह गए 

शासन द्वारा संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन में हर स्तर पर पारदर्शिता रखीजाए तथा शासन की योजनाओें का लाभ पात्र व्यक्तियों को ही प्रदान कराया जाए ।

 रिश्वत मांगने वाले कर्मचारियों के खिलाफ एफआईआर कराने को कौन मंत्रीजी कह गए 


शासन द्वारा संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन में हर स्तर पर पारदर्शिता रखीजाए तथा शासन की योजनाओें का लाभ पात्र व्यक्तियों को ही प्रदान कराया जाए। कर्मचारियों द्वारा शासन की योजनाओं का लाभ देने के बदले पैसा मांगने की घटनाओं पर  तत्काल एफआईआर दर्ज कर कठोर कार्यवाही की जाए।राज्यमंत्री कृषि, कृषि शिक्षा एवं कृषि अनुसंधान, उ.प्र. सरकारं/प्रभारी मंत्री जनपद बंादा  लाखन सिंह राजपूत ने उपरोक्त निर्देश विकास कार्यों तथा कानून व्यवस्था की समीक्षा हेतु सर्किट हाउस सभागार में सम्पन्न बैठक में दिये।


 उन्होंने निर्देश दिए कि विधानसभा वार कैम्प आयोजित कर पात्र व्यक्तियों की पेंशन स्वीकृत करायी जाए। कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि गौ आधारित खेती को प्रोत्साहित किया जाए जिससे किसान गौवंश को पालें।  अन्ना पशुओं को गौवंश आश्रय स्थलों में रखने का कार्य प्राथमिकता पर किया जाए जिससे किसानों की फसलों को नुकसान न हो।


प्रभारी मंत्री ने जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिए कि पात्र व्यक्तियों के राशन कार्ड प्राथमिकता पर बनाये जाएं जिससे उन्हें राशन प्राप्त हो सके। प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा करते नर्देश दिए कि आवास योजना में अपात्र व्यक्तियों का चयन करने पर सम्बन्धित ग्राम पंचायत अधिकारी के विरूद्ध कार्यवाही की जाए। पेयजल योजनाओं की समीक्षा करते हुए कहा कि गुढ़ाकला पेयजल परियोजना का कार्य 15 अक्टूबर तक पूरा किया जाए।


 जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि आपरेशन कायाकल्प के अन्तर्गत किये जाने वाले कार्य 30 नवम्बर तक पूर्ण करायें जाएं तथा छात्र/छात्राओं में महिला समूहों के माध्यम से क्रय की गयी डेªस का वितरण कराया जाए।  जनपद की जो खराब सड़कें हैं उनको ठीक कराने के आगणन प्रस्ताव शीघ्र शासन को भेजे जायें। कन्या सुुमंगला योजना में प्राप्त आवेदन पत्रों का शीघ्र सत्यापन कराया जाए।

प्रभारी मंत्री आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजना के अन्तर्गत 02 महिला समूहों को चार पहिया वाहन वितरित किये। इस अवसर पर विधायक सदर प्रकाश द्विवेदी ने कहा कि शहरी क्षेत्रों में राशन कार्डों का सत्यापन लेखपालों के माध्यम से कराया जाए। उन्होंने अपने क्षेत्र की अन्य समस्यायें भी बैठक में रखीं। विधायक बबेरू  चन्द्रपाल कुशवाहा ने कहा कि अन्ना पशुओं की बहुत समस्या है तथा अन्ना पशुओं के कारण किसानों की फसलें बरबाद हो रही हैं इसलिए अन्ना पशुओं कोे शीघ्र संरक्षित कराया जाए।


जिलाधिकारी  आनंद कुमार सिंह ने मंत्री जी को विकास कार्यों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जनपद में अब तक 1907 कोविड मरीज चिन्हित किये गये हैं जिनमें से 1588 मरीज ठीक हो चुके हैं। श्री सिंह ने बताया कि जनपद बांदा में रिकवरी दर 83 प्रतिशत से अधिक है। 


बैठक में पुलिस अधीक्षक सिंद्धार्थ शंकर मीणा, जिलाध्यक्ष भाजपा रामकेश निषाद, मुख्य विकास अधिकारी हरिश्चन्द्र वर्मा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. एन.डी.शर्मा, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक, प्रभागीय वनाधिकारी संजय अग्रवाल, परियोजना निदेशक डी.आर.डी.ए. आर.पी.मिश्र, उप निदेेशक सूचना भूपेन्द्र सिंह यादव, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी संजीव बघेल, उपायुक्त एन..आर.एल.एम. के.के. पाण्डेय सहित सभी सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0